क्या कमलनाथ भाजपा में साथ जा सकते हैं कथित तौर पर इंदिरा गांधी के तीसरे बेटे कांग्रेस से क्यों नाराज हैं?

कमलनाथ के करीबी सज्जन सिंह वर्मा संकेत दिया कि उनके बॉस का अपमान किया गया है।

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता कमलनाथ उन खबरों के बीच शनिवार को दिल्ली पहुंचे की वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने पर विचार कर रहे है । प्रभावशाली गांधी परिवार के बाद सबसे बड़े कांग्रेसी नेताओं में से एक मध्य प्रदेश के दिग्गज नेता ने बड़े बदलाव की पुष्टि नहीं की है इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्होंने इससे इंकार भी नहीं किया है कांग्रेस से क्यों नाराज है इंदिरा गांधी के तीसरे बेटे?

कमल के करीबी सज्जन सिंह वर्मा ने संकेत दिया है कि उनके बॉस का अपमान किया गया है। एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा कि नेता के आत्मसम्मान को ठेस पहुंची है। राजनीति में तीन चीजे काम करती है सम्मान, अपमान और स्वाभिमान जब इन पर चोट लगती है तो इंसान अपने फैसले बदल लेता है जब ऐसा शीर्ष राजनेता जिसने पिछले 45 वर्षों में कांग्रेस और देश के बहुत कुछ किया है, उसके बारे में सोचता है अपनी पार्टी से दूर जा रहें हैं तो इसके पीछे ये तीन कारक काम करते हैं उन्होंने वस्तुत: इस बात की पुष्टि की है की मध्य प्रदेश में कांग्रेस में दरार हैं।

हालांकि उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने पूरी तरह से कांग्रेस छोड़ने के बारे में कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कमलनाथ जी जा रहें है। इस बारे में इस बारे में अभी कोई फैसला नहीं हुआ है सिर्फ अटकलें हैं।

वर्मा ने एचटी को बताया की नाथ कांग्रेस में किसी अज्ञात मुद्दे को लेकर बेहद अज्ञात थे। कमल नाथ वरिष्ठ नेताओं से मिलने के लिए दिल्ली में हैं। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस आला कमान द्वारा मध्य प्रदेश चुनाव पार्टी की हार के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाने के बाद कमलनाथ भाजपा नेताओं के संपर्क में थे। उन्हें मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से भी हटा दिया और राज्य विधानसभा में विपक्ष का नेता भी नहीं बनाया गया। राज्यसभा के लिए अशोक सिंह के नाम की घोसणा से भी कमलनाथ नाराज थे। अशोक सिंह को दिग्विजय सिंह का वफादार माना जाता है। कमल नाथ को राज्य सभा सीट की चाहत थी।

कांग्रेस ने कमल नाथ को मना लिया :

इस बीच कांग्रेस पार्टी ने कमलनाथ को इंदिरा गांधी का तीसरा बेटा कह कर शांत करने की कोशिश की। पहली बार जब कमलनाथ ने चुनाव लडा था तब इंदिरा गांधी ने कहा था कि कमलनाथ उनके तीसरे बेटे हैं कमलनाथ के 45 साल के राजनीतिक सफर में हमारे अच्छे और बुरे दोनों समय में वह हमारे साथ काम करते रहे है ” मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के रूप में पिछले 7 वर्षों से पार्टी मुझे अभी भी याद है जब सिंधिया ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार गिरा थी तो, सभी कांग्रेस कार्यकर्ता कमलनाथ के नेतृत्व और विचारधारा के साथ खड़े थे जो खबरें अटकलें लगाई जा रही है वे निराधार है, क्या आप बता सकते हैं कल्पना कीजिए की इंदिरा गांधी का तीसरा बेटा कांग्रेस छोड़ रहा है? क्या आप सपने में भी ऐसा कुछ नहीं सोच सकते कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके कांग्रेस छोड़ने की खबरें निराधार है उन्होंने कहा हर कांग्रेस कार्यकर्ता ने दो महीने पहले ही कमलनाथ के नेतृत्व में काम किया है वह उन्हें (कांग्रेस कार्यकर्ताओं) नहीं छोड़ सकते”।

दिग्विजय सिंह ने दावा किया कि उन्होंने शुक्रवार रात को कमलनाथ से बात की थी। जिस व्यक्ति ने अपने राजनीतिक कैरियर नेहरू गांधी परिवार से शुरू किया और जब पूरी जनता पार्टी और तत्कालीन केंद्र सरकार इंदिरा गांधी को जेल भेज रही थी, तब एक साथ खड़ा था। आप उस व्यक्ति (कमलनाथ) से कैसे उम्मीद कर सकते हैं । कि वह सोनिया गांधी और इंदिरा गांधी को छोड़ देगा गांधी के परिवार? आपको इसकी उम्मीद नहीं करनी चाहिए सिंह ने संवाददाताओं से कहा।

Leave a Comment