साउथ अफ्रीका के जमीन पर मोहम्मद सिराज का जलवा

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 2 दो टेस्ट सीरीज मैच की बीच मोहम्मद सिराज ने 18 ओवर में ही साउथ अफ्रीका के आधे टीम को पवेलियन के रास्ता दिखा दिया था

साउथ अफ्रीका के जमीन पर सिराज का जलवा

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच केपटाउन में खेला गया 2 टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जा रहा है। इस मुकाबले में अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। मेहमान टीम भारत को गेंदबाजी का फैसला दिया भारतीय गेंदबाजों ने अपनी गलती को सुधारा और न्यूलैंड्स में मेजबानों को चारों खाने चित कर दिया। मोहम्मद सिराज ने अपना जलवा बिखेरा और टेस्ट क्रिकेट में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर दिया।

सिराज का अफ्रीका में दबदबा

उन्होंने 16वें ओवर में ही पांच विकेट पूरे किए और साउथ अफ्रीका का स्कोर 34 रन पर 6 विकेट कर दिया। इसके बाद उन्होंने काइल वेरेने को आउट कर अपना छठा विकेट झटका। इससे पहले कभी भी सिराज टेस्ट मैच की एक पारी में छह विकेट नहीं ले पाए थे। वह साउथ अफ्रीका में टेस्ट मैच की एक पारी में छह या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले चौथे भारतीय गेंदबाज बने हैं। उनसे पहले दो-दो बार हरभजन सिंह व रविचंद्रन अश्विन ने 7-7 विकेट लिए थे। जबकि शार्दुल ठाकुर भी 7 विकेट अपने नाम कर चुके थे।

मोहम्मद सिराज के आगे साउथ अफ्रीका ढेर

मोहम्मद सिराज का टेस्ट क्रिकेट में यह तीसरा फाइव विकेट हॉल रहा। वहीं उनका इससे पहले बेस्ट परफॉर्मेंस था 60 रन देकर पांच विकेट। यहां उन्होंने 9 रन देकर ही अपना पंजा पूरा कर लिया। सिराज के आगे मेजबान टीम के बल्लेबाज टिक नहीं पाए। उन्होंने एडेन मारक्रम, कप्तान डीन एल्गर, टोनी डी जॉर्जी, डेविड बेडिंगहम और मार्को यान्सन को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

इस सीरीज में टीम इंडिया 0-1 से पिछड़ रही है। सेंचुरियन टेस्ट में भारत को पारी से हार झेलनी पड़ी थी। यहां टीम इंडिया दो बदलाव के साथ मैदान पर उतरी। रविचंद्रन अश्विन बाहर हुए और रवींद्र जडेजा की वापसी हुई। इसके अलावा शार्दुल ठाकुर को बाहर करके मुकेश कुमार को टीम में जगह दी गई। भारतीय टीम के आगे साउथ अफ्रीका का यह सबसे बुरा हाल है। इससे पहले अफ्रीका का सबसे कम टेस्ट स्कोर भारत के खिलाफ 2015 में नागपुर टेस्ट में आया था। तब अफ्रीका 79 रन पर सिमट गई थी। वहीं साउथ अफ्रीका में मेजबान टीम 2006 में भारत के खिलाफ जोहानिसबर्ग में 84 रन पर ऑलआउट हो गई थी।

आईसीसी ने किया स्टांपिंग के नियम में बड़ा बदलाव

ICC ने किया स्टंपिंग के नियम में बड़ा बदलाव, DRS के गलत उपयोग पर लगेगी रोकICC New Stumping Rule: आईसीसी ने स्टंपिंग नियम में बड़ा बदलाव किया है। अब स्टंपिंग रिव्यू का फैसला साइड ऑन कैमरे से होगा।

इंटरनेशनल क्रिकेट बोर्ड आईसीसी अब स्टंपिंग नियम में बड़ा बदलाव किया है। जिसके बाद अब डीआरएस को गलत तरीके से यूज करने पर भी रोक लगेगी। स्टंपिंग नियम में बदलाव करने होने के बाद अब थर्ड अंपायर सिर्फ विकेटकीपिंग को लेकर निर्णय देंगे। क्रिकबज ने अभी इस नियम को लेकर जानकारी शेयर की है। हालांकि, आईसीसी की तरफ से अभी ऑफिशियल रिलीज का इंतजार है।

महत्वपूर्ण जानकारी

आपको बता दें कि जब विकेट के पीछ से कोई विकेटकीपर स्टंपिंग की अपील करेगा और फैसला थर्ड अंपायर के पास जाएगा तो थर्ड अंपायर सिर्फ विकेटकीपिंग चैक करेगा न की बॉल बल्ले से लगी है या नहीं। स्टंपिंग से जुडे रिव्यू अब साइड ऑन कैमरे को देखकर लिया जाएगा। अगर कोई विकेटकीपर स्टंपिंग के साथ-साथ कैच की भी मांग करता है तो उसको दूसरा डीआरएस लेना होगा।आखिरी बार ऐसा ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने किया था। भारत के खिलाफ खेले गए एक मैच में एलेक्स कैरी ने स्टंपिंग अपील के बाद कैच की अपील कर दी थी यानी एक ही रिव्यू में एलेक्स कैरी ने थर्ड अंपायर से दो निर्णय पर फैसला लेने की मांग की थी।

ये भी पड़े अब ऐसा नहीं होगा

रिप्लेसमेंट में बदलाव किया है। यानी अगर मैच के दौरान कोई खिलाड़ी फील्डिंग के दौरान चोटिल हो जाता है तो उसकी जगह मैदन के अंदर आया सब्सीट्यूट खिलाड़ी अब गेंदबाजी नहीं कर सकेगा। इसके अलावा अब आईसीसी ने मैदानी चोट के आंकलन और चोटिल खिलाड़ी के उपचार के लिए 4 मिनट का समय निर्धारित किया है।

Leave a Comment