Crakk movie hindi dubbed full hd download । vidyut jamwal new movie। Movie review।

2024 vidyut jamwal कि फिल्म CRAKK – JEETEGA TOH JIYEGAA 23 फरवरी को रिलीज हो गया है। 2024 की भारतीय हिंदी भाषा की स्पोर्ट्स एक्शन फिल्म है। इस फिल्म में खेल और एक्शन दिखाया गया है इस फिल्म को आदित्य दत्त ने लिखा है और निर्देशित है यह फिल्म एक्शन हीरो विद्युत जामवाल द्वारा निर्मित है। इस फिल्म में विद्युत जामवाल, नोरा फतेही , अर्जुन रामपाल और एमी जैक्सन मुख्य किरदार पर हैं।

Crakk मूवी स्टोरी

इस फिल्म में दो भाई की कहानी को दिखाया जाता है जो की दोनो एक दुसरे से काफ़ी मिल जुल कर रहते हैं। दोनो भाई और वहा के सारे लड़के सभी पैसा कमाने के लिए गेम खेलते हैं खतरो वाला। और इस फिल्म में विद्युत जामवाल और उसका भाई दोनो काफी अच्छा और खतरनाक वाला स्टंट भी करते हैं। जो भी दोनो डेंजर वाला स्टंट करते हैं उसे विद्युत जामवाल का भाई वीडियो बना के सोशल मीडिया पर पोस्ट करता है ताकि वह फैमस हो जाए जिससे उसे मैदान में खेलने का मौका मिले। मैदान एक ऐसी जगह होती है जिसे कई लोग बाहर से खेलने के लिए आते मैदान में खेले जाने वाले सारे खेल इलीगल होते हैं फिर भी काफी ज्यादा संख्या में लोग आते हैं खेलने के लिए। मैदान गेम गेम इस लिय इलीगल होता है क्योंकि इस खेल में लोग जान भी जा सकती है। और यह गेम बाहरी देश में खेला जाता है। और इस खेल में जो भी जीतेगा उसे बहुत ज्यादा पैसा मिलता है। इसी लिय विद्युत जामवाल और उसका भाई खेलना चाहता है और कई लोग भी खेलना चाहते हैं। लेकिन जो लोग खेल में माहिर और फेमस होते हैं वो ही इस मैदान गेम में खेलने के योग्य होगा।

मैदान

इसीलिए सारे लोग मेहनत करते हैं ताकि उनको इस मैदान गेम में खेलने का मौका मिले और वह बहुत सारा पैसा कमा सके । इस फिल्म में विद्युत जमाल का भाई खेलने के लिए जाता है और उसे खेल से उसकी लाश घर आता है जिससे पता चलता है कि उसका भाई गेम जीत नहीं पाया। फिर विद्युत जमाल भी सोचता है कि मैं भी इस खेल में जाऊंगा खेलेगा और इस मैच को जीतूंगा तो उसे समय विद्युत जामवाल जब रात को नदी के किनारे बैठे रहते हैं तो एक आदमी आता है और उसे उसे गेम में बुलाता है और विद्युत जामवाल बहुत ही खुश होता है और वह उस गेम में शामिल हो जाता है। और जब सभी को मैदान गेम में बुलाया जाता है तो वहां पर काफी मात्रा में लोग इकट्ठे होते हैं गेम खेलने के लिए सभी पैसे जीतने के लिए आए रहते हैं। फिर गेम के बारे में बताया जाता है कि इस गेम में जो जीतेगा वही जिएगा और वही विनर होगा तो सभी को इस गेम का नियम बता दिया जाता है और सभी के हाथों में एक-एक घड़ी दी जाती है ताकि सभी क्या कर रहे हैं इसकी नजर गेम के मालिक को रहे और इस गेम का मालिक अर्जुन रामपाल रहते हैं जो इस गेम को खिलाते हैं। और गेम के बाहर जो लोग रहते हैं । जो कि बड़े-बड़े लोग रहते हैं वे लोग गेम के खिलाड़ियों पे बोली लगाते। जिससे यह पता चलता है कि जिस खिलाड़ी में दाम लगाए गए हैं वह खिलाड़ी अगर जीत जाता है तो खिलाड़ी को भी पैसा मिलेगा और जो उस खिलाड़ी पर दाम लगाया है उसे भी पैसा मिलेगा ।

लेवल एक

फिर सभी खिलाड़ियों को आराम करने के लिए कमरा दिए जाते हैं और जब सुबह होता है तो सभी खिलाड़ियों को मैदान में बुलाया जाता है। फिर सभी खिलाड़ियों को मैदान में बुलाकर गेम round 1 के बारे में बताया जाता है। फर्स्ट राउंड में बताया जाता है कि एक ट्रक पर 16 झंडा लहराया हुआ रहता है और वह ट्रक रुकेगा नहीं ट्रक जाते रहेगा और सभी खिलाड़ियों को उसे ट्रक का पीछा करके उसमें चढ़कर हर एक खिलाड़ी एक झंडा को नीचे करेगा वह उसे खेल में जीत जाएगा और उसे अगला राउंड में एंट्री मिल जाएगी और खिलाड़ियों को उसे ट्रक का पीछा करने के लिए गाड़ी दी जाती है जिसे कुछ लोग जितना गाड़ी होता है उतने लोग उस गाड़ी को रिमोट कंट्रोल से कंट्रोल करते हैं और जितने खिलाड़ी होते हैं वह सभी उसे गाड़ी को पकड़ कर रिमोट कंट्रोल का कंट्रोल गाड़ी से हटा करके खुद उसे गाड़ी को चला सके ट्रक पर पहुंचना और ट्रक से झंडा को लेना। जैसे ही पहले राउंड स्टार्ट होता है तो सभी लोग ट्रक का पीछा करने के लिए गाड़ी की तरफ भागते हैं और गाड़ी पर बैठकर रिमोट कंट्रोल को हटा करके इस गाड़ी से ट्रक का पीछा करने लगते हैं जिसमें से केवल 16 लोग ही उसे ट्रक में से झंडा को हासिल कर पाते हैं और अगले राउंड के लिए चुने जाते हैं। इसके बाद मैच खत्म हो जाता है और सभी खिलाड़ी अपने-अपने कमरे की ओर जाते हैं और आराम करते हैं ।

पार्टी टाईम

और अगले सीन में दिखाया जाता है कि सभी लोग रात में पार्टी कर रहे हैं और एक आना चलता है और गाना खत्म होने के बाद हीरो को एक हीरोइन से प्यार हो जाता है। और उसके अगले दिन में लिखा जाता है कि पुलिस उसे गेम को बंद करने के लिए सबूत को ढूंढते हैं क्योंकि यह गेम इलीगल होता है जिसमें कई सारे लोगों की जान जाती है। फिर अगले सीन में देखा जाता है कि हीरो मैदान से बाहर आता है और उसे पुलिस पकड़ लेती है और कहती है कि उसे अर्जुन रामपाल को पकड़ने में मदद करें और विधि जमाल को एक ट्रैकिंग डिवाइस देती है फेस के अगले दिन में देखा जाता है कि विजय जमाल को मैदान गेम के अंदर जाने नहीं दिया जाता है और वहां के गार्ड से विद्युत जमाल का लड़ाई हो जाता है और दोनों लड़ते-लड़ते अर्जुन रामपाल के यहां पहुंच जाते हैं और अर्जुन रामपाल को विद्युत जामवाल बोलता है कि पहले किसी ने मारा था फिर विधि जमाल पुलिस से मिलने की सारी कहानी बता देता है फिर उसके अगले दिन में देखा जाता है कि अर्जुन रामपाल का एक परमाणु बम बनाने का हथियार रहता है जिसे पुलिस वाले पकड़ लेते हैं और उसके अगले सीन में दिखाया जाता है कि अर्जुन रामपाल उसे परमाणु बम बनाने वाले हथियार को लेने के लिए पुलिस वालों के पास जाता है और वहां पर काफी मारपीट होते हैं।

विद्युत जामवाल को पुलिस पकड़ती है

और इस मारपीट में पता चलता है कि विद्युत जमाल का भाई गेम में मारा नहीं था उसे मारा गया है या सुनने के बाद विधि जमा और भी गुस्से में आ जाता है और यह पता करने के लिए कि उसके भाई को क्यों मारा गया था मैं जानने के लिए वह मैदान में जाता है और मैदान के मालिक अर्जुन रामपाल से पूछता है कि मेरा भाई को क्यों मारा गया था। और उसके अगले सीन में दिखाया जाता है कि अर्जुन रामपाल अपने पिता को करने के लिए जाता है लेकिन मरता नहीं है फिर उसके आगे सिम दिखाया जाता है कि विद्युत जामवाल अपने भाई का सबूत ढूंढने के लिए खोज बिन करता है।

लेवल दूसरा

अगले सीन में दिखाया जाता है कि मैदान गेम का दूसरा राउंड शुरू होने वाला है और सारे 16 प्लेयर वहां पर आते हैं और इस 2 लेवल के नियम के बारे में बताया जाता है कि इस राउंड में आठ झंडा हैं जिसे हासिल करना है सात झंडा लाल कलर का होता है और एक झंडा सफेद कलर का होता है जो सात लोग लाल झंडा को हासिल करेंगे वह अगले लेवल में पहुंच जाएगा और जो सफेद झंडा को हासिल करेगा वह अगले लेवल में पहुंचेगी ही साथ ही उसे ज्यादा पैसा दिया जाएगा और उस खिलाडी का सम्मान किया जाएगा।

अगले सीन दिखाया जाता है कि सभी खिलाड़ियों को एक-एक खिलाड़ी और दिए जाते हैं जो की सभी खिलाड़ियों को लेकर चले और वैसा करते-करते सात खिलाड़ी लाल रंग के झंडे को हासिल कर लेते हैं और सफेद कलर का झंडा को सिर्फ विद्युत जामवाल हासिल कर पता है। और या दूसरा राउंड में समाप्त हो जाता है।

लेवल तीसरा

अगले सीन में दिखाया जाता है कि आठ खिलाड़ियों को गाड़ी में बैठकर तीसरे राउंड के लिए लिया जाता है तीसरे राउंड के लिए ले जाते समय मैदान में पहुंचने से पहले सात खिलाड़ियों को मार दिया जाता है सिर्फ विद्युत जामवाल को छोड़ दिया जाता है। और विद्युत जामवाल को विनर घोषित कर दिया जाता है लेकिन विद्युत जमाल खुश नहीं होते हैं वह अर्जुन रामपाल को चैलेंज करते हैं की अर्जुन रामपाल विद्युत जामवाल के साथ अंतिम राउंड खेले और अर्जुन रामपाल इस खेल के लिए राजी हो जाते हैं।

विद्युत जामवाल और अर्जुन रामपाल के बीच में गेम

अगले सीन में दिखाया जाता है कि दोनों खिलाड़ियों के हाथ में टाइम बम फिट किया जाता है जो 20 मिनट का होता है और 20 मिनट के अंदर में दोनों को साइकिल से रेस करते हुए पहाड़ों से और शहरों से गुजर के मैदान में पहुंचना है और वहां पर एक झंडा होगा उसे लगाना है और जो पहले झंडा लगाएगा उसे बम को ऑफ करने का चाबी मिलेगा और वह बच जाएगा मैच स्टार्ट होते ही अर्जुन रामपाल और विद्युत जामवाल रेस करने लगते हैं और विद्युत जामवाल रेस को जीत जाता है और दोनों के बीच में फाइट सीन होता है और विद्युत जामवाल अर्जुन रामपाल को मार देते हैं और मरने से पहले अर्जुन रामपाल विद्युत जमाल से कहते हैं कि विद्युत जमाल के भाई को उसने नहीं मारा है

अगले सीन में दिखाया जाता है कि विद्युत जामवाल एक एरोप्लेन में बैठे हुए हैं और उसके साथ अर्जुन रामपाल के पिताजी बैठे हैं और जिससे यह पता चलता है कि विद्युत जामवाल के भाई को अर्जुन रामपाल के पिता ने मारा है और विद्युत जमवाल टाइम बम लेकर प्लेन में टाइम बम को छोड़कर प्लेन से कूद जाते हैं और प्लेन ब्लास्ट हो जाता है और अर्जुन रामपाल का पिता वहीं पर मर जाते हैं और लास्ट में एक गाना होता है।

Leave a Comment