Paytm share इतना नीचे कैसे गिरा

मैकवेरी का कहना है कि आरबीआई के प्रबंध के निहीतार्थ काफी गंभीर है निकट अवधि में समाधान की संभावना नहीं है।

पेटीएम आरबीआई प्रबंध:

मैकवेरी ने कहा कि आरबीआई को निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक की डिजिटल वेबसाइट गतिविधियों पर प्रतिबंध हटाने में 15 महीने का समय लगा लेकिन पेटीएम के मामले में आरबीआई ने एक व्यापक आईटी का आयोजन किया है।

पेटीएम स्टॉक माल आज मैकवेरी को समस्याओं का निकट भविष्य में कोई समाधान नहीं दिख रहा है इसमें कहा गया है कि आरबीआई के कदम का प्रभावी रूप से मतलब है कि सिर्फ बैंक आप प्रत्यक्ष रूप से पेटीएम का पीपीआई (प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट) लाइसेंस रद्द कर रहा है।

मैकवेरी ने अपने नवीनतम नोट में क्या कह

मेकवेरी ने कहा कि 29 फरवरी 2024 तक पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड और जमा संचालन टॉप अप फंड ट्रांसफर और ऐसे उन बैंकिंग कार्य में रोकने के आरबीआई के कदम के गंभीर प्रभाव होंगे क्योंकि इससे पेटीएम की क्षमता में काफी बाधा आएगी अपने पारिस्थितिकी तंत्र में ग्राहकों को बनाए रखने के लिए और तद्नानुसार भुगतान उत्पादों और रन उत्पादों को बेचने से प्रतिबंधित करता है। हमें लगता है कि माध्यम से लंबी अवधि में राजस्व और लाभ प्रदता का प्रभाव महत्वपूर्ण हो सकता है पानी गिरने के लिए एक महत्वपूर्ण वस्तु बनी रहेगी या कहा मेकवेरी ने मैं कहा कि आरबीआई को निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक की डिजिटल वेबसाइट गतिविधियों पर प्रतिबंध हटाने में 15 महीने का समस्या लगा है लेकिन पेटीएम के मामले में नए ग्राहकों को शामिल करने पर पहले प्रबंध मार्च 2022 में के बाद से 22 महीने बीत चुके हैं आरबीआई ने एक व्यापक आईटी अपडेट किया है और गैर अनुपालन की पहचान करना जारी रखा है जो उसके विचार में कर्मियों का संकेत देता है काफी सामग्री । तदनुसार हमें इन समस्याओं का कोई निकट भविष्य में समाधान नहीं दिखता है और हमारे विचार में इसका प्रभावी अर्थ यह है कि आरबीआई आप प्रत्यक्ष रूप से पेटीएम के पीपीआई (प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट) लाइसेंस को रद्द कर रहा है। मैकवेरी ने कहा कि बड़ा मुद्दा है कि पेटीएम नियामक की अच्छी किताबों में नहीं है और आगे चलकर उनके रेट देने वाले भागीदार भी संवत रिश्तों पर फिर से विचार कर सकते हैं मेक वेरी ने कहा इस नोट को लिखे जाने तक हमने प्रबंधन के साथ कोई बातचीत नहीं की है और ना ही कंपनी की ओर से कोई प्रेस विज्ञप्ति देखी है । यह विचार पूरी तरह से आरबीआई के कार्यों की हमारी व्याख्या पर आधारित है।

पेटीएम के भुगतान बैंक में कितने खाते हैं:

पेटीएम के भुगतान बैंक में सभी 33 करोड़ से अधिक वॉलेट कहते हैं। किस तत्व को देखते हुए की पेटीएम के लिए वर्तमान एमटीयू मासिक लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ता 10 करोड़ है और पहले का प्रबंध नए ग्राहकों को शामिल करने के लिए था पेटीएम भुगतान और वित्तीय उत्पादों को बेचने के लिए पीपीपीएलएस ग्राहक आधार का लाभ उठाना जारी रख सकता है। मौजूदा ग्राहकों को क्रेडिट जमा फंड ट्रांसफर यूपीआई लेनदेन फास्टैग टोल भुगतान जैसे बुनियादी बैंकिंग कार्यों को करने से प्रतिबंधित किया गया है जहां पेटीएम के पास 17 ईपीआर प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी है और 6 करोड़ उपयोगकर्ता बिल भुगतान और वॉलेट का उपयोग करते हैं पीबीपीएल पर लगाए गए गंभीर प्रतिबंधों को देखते हुए हमारा मानना है कि यह पेटीएम की अपने स्थिति की तंत्र में ग्राहकों को बनाए रखने की क्षमता को काफी हद तक बाधित करता है और तद्नुसार है इससे भुगतान उत्पादों और रन उत्पादों को बेचने से प्रतिबंधित करता है यह कहा।

Leave a Comment